केरल के बाद अब हिमाचल प्रदेश में हैवानियत देखी गयी, एक गर्भवती गाय को खिलाया विस्फोटक

Ashu Yadav

हिमाचल प्रदेश के जिला बिलासपुर के झंडुत्ता इलाके में एक गर्भवती गाय को किसी ने विस्फोटक का गोला बनाकर खिला दिया ,जिसके कारण गर्भवती गाय बुरी तरह से जख्मी हो गई है.इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत से वायरल हो रहा है.

Informative
गर्भवती गाय को खिलाया विस्फोटक

केरल के मलप्पुरम जिले में गर्भवती हथिनी की मौत का मामला अभी तक शांत नहीं हुआ कि अब एक और मामला हिमाचल प्रदेश से सामने आ रहा है जिसने सबको हैरान कर दिया है.

हिमाचल प्रदेश के जिला बिलासपुर के झंडुत्ता इलाके में एक गर्भवती गाय को किसी ने विस्फोटक का गोला बनाकर खिला दिया ,जिसके कारण गर्भवती गाय बुरी तरह से जख्मी हो गई है.गाय के मालिक ने घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर डाला है और इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत से वायरल हो रहा है.

इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद से हिमाचल पुलिस ने इस मामले के संबंध में केस दर्ज कर लिया है और इसी के साथ पूरे मामले की गंभीरता से जांच और छानबीन की जा रही है.इस घटना के बाद से आस-पास के इलाकों मे रह रहे लोगों में काफी आक्रोश है.इससे पहले ही मलप्पुरम में एक गर्भवती हथिनी को शरारती तत्वों ने अनानास में पटाखे भरकर खिला दिया था, जिससे उसका मुंह और जबड़ा बुरी तरह से जख्मी हो गया था.

हथिनी गंभीर रूप से जख्मी होने के बाद वेलियार नदी पहुंची और जहां हथिनी तीन दिन पानी में मुंह डाले खड़ी रही और फिर बाद में उसकी और गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हो गई. इस घटना के बाद से लोगों ने सोशल मीडिया पर अपनी नाराजगी और आक्रोश को जताया.केरल सरकार पूरे मामले गंभीरता की जांच करा रही है और इस मामले पर खुद पर्यावरण मंत्रालय भी संज्ञान ले चुका है.

गर्भवती हथिनी की हत्या के मामले में एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है. वन मंत्री के राजू ने कहा है कि हत्या में कई लोग शामिल थे और सभी लोगों को गिरफ्तार किया जाएगा जिस की जांच पुलिस और वन विभाग कर रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

कोरोना मरीजों को भर्ती नहीं कर रहे और बेड के नाम पर ब्लैकमार्केटिंग करने वाले अस्पताल पर होगी कार्रवाई: केजरीवाल

मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि हॉस्पिटल बेड्स की ब्लैक मार्केटिंग कर रहे है. मैं उनको चेतावनी देना चाहता हूँ कि ऐसे हॉस्पिटल को बख्शा नही जाएगा. दिल्ली में कोरोना एप लांच होने के बाद से 1100 मरीज प्राइवेट अस्पतालों में मंगलवार से तक एडमिट हुए हैं.
Informative