देशव्यापी लॉकडॉउन में भी जिंदगियां बचा रहा अंकुरण फाउंडेशन

ePatrakaar

अंकुरण फाउंडेशन ने जिला अस्पताल में भर्ती पूजा देवी को एक यूनिट ब्लड पहुंचाया, तो जिला अस्पताल में ही भर्ती धम्मौर निवासी सुखदेव को भी ब्लड पहुंचाया।

सुल्तानपुर। विश्वव्यापी कोरोना संक्रमण की वजह से भारत में देशव्यापी लॉकडॉउन की वजह से लोग परेशान हैं। इस बीच गंभीर बीमारियों की वजह से परेशान लोगों को मदद नहीं मिल पा रही है। लेकिन यूपी के सुल्तानपुर जिले में अंकुरण फॉउंडेशन इस समस्या को दूर कर रहा है। पूरे जिले में किसी को भी स्वास्थ्य संबंधित परेशानी की खबर मिलते ही अंकुरण फाउंडेशन की टीम सक्रिय हो जाती है और उसे मदद पहुंचाई जाती है।

अंकुरण फाउंडेशन इस लॉकडॉउन में ऐसे लोगों की भी मददगार के तौर पर सामने आया है, जिसे रक्त की जरूरत है। इसके तहत अंकुरण फाउंडेशन हर दिन लोगों को जरूरत के मुताबिक रक्त पहुंचा रही है। जिसमें आज शुक्रवार को दो मरीजों के लिए रक्त की व्यवस्था अंकुरण फाउंडेशन की तरफ से की गई।

 

अंकुरण फाउंडेशन ने जिला अस्पताल में भर्ती पूजा देवी को एक यूनिट ब्लड पहुंचाया, तो जिला अस्पताल में ही भर्ती धम्मौर निवासी सुखदेव को भी ब्लड पहुंचाया। सुखदेव के शरीर में हीमोग्लोबिन की कमीं के चलते तुरंत रक्त चढ़ाने की जरूरत थी, जिसे अंकुरण फाउंडेशन की मदद से चढ़ाया गया।

अंकुरण फाउंडेशन के जरिए मदद पहुंचाने का कार्य कर रहे डॉक्टर आशुतोष श्रीवास्तव से मिली जानकारी के मुताबिक इस संगठन के लोग हर माह रक्तदान करते हैं और ब्लड बैंक में जमा रक्त को किसी भी समय जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल किया जाता है। यही नहीं, अकुंरण फाउंडेशन गरीब बच्चों को स्कूली शिक्षा भी मुहैय्या करा रहा है, तो वृक्षारोपण समेत तमाम अन्य कामों को भी अंजाम दे रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

हाईकोर्ट का बड़ा फैसला: लाउडस्पीकर से अजान पर पाबंदी सही, यह इस्लाम नहीं!

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मस्जिद से अजान पर बड़ा फैसला दिया है। कोर्ट ने कहा है कि लाउडस्पीकर से अजान देना इस्लाम का धार्मिक भाग नहीं है। अजान इस्लाम का धार्मिक भाग है। मानव आवाज में मस्जिदों से अजान दी जा सकती है।
प्रतीकात्मक तस्वीर