#CaaProtest: सर से ऊपर बह रहा पानी, हिंसा में सात की मौत

ePatrakaar

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सिटिजनशिप अमेंडमेंट एक्ट) को लेकर भारत की राजधानी नई दिल्ली में विरोध प्रदर्शन अब उग्र हो चला है। नई दिल्ली के कई इलाकों में चल रहे प्रदर्शन सोमवार से उग्र स्थिति में पहुंच गए और कई जगहों पर हिंसा की वारदातें सामने आई। इन हिंसक वारदातों में एक पुलिसकर्मी समेत सात लोगों की मौत हो गई है, जिसमें से तीन की मौत जीटीबी अस्पताल में हुई। जीटीबी अस्पताल के सूत्रों की मानें करीब तीन दर्जन से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हैं, ऐसे में मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी भी हो सकती है।

protest in delhi over caa, picture by twitter india
नई दिल्ली के कई इलाकों में चल रहे प्रदर्शन सोमवार से उग्र स्थिति में पहुंच गए और कई जगहों पर हिंसा की वारदातें सामने आई। इन हिंसक वारदातों में एक पुलिसकर्मी समेत सात लोगों की मौत हो गई है, जिसमें से तीन की मौत जीटीबी अस्पताल में हुई।

हिंसा में एक पुलिसकर्मी समेत 7 की मौत

नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर भड़की हिंसा में एक पुलिसकर्मी समेत 7 लोगों की मौत हो गई और अर्द्धसैन्य एवं दिल्ली पुलिस बल के कई कर्मियों समेत करीब 150 लोग घायल हो गए। इस दौरान पथराव के कारण घायल हुए गोकलपुरी के सहायक पुलिस आयुक्त के कार्यालय से जुड़े हेड कांस्टेबल रतन लाल की मौत हो गई। राजधानी दिल्ली (Delhi CAA Clash) के भजनपुरा, गोकुलपुरी, चांदबाग, मौजपुर, जाफराबाद इलाके में सोमवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोधी और समर्थक आमने-सामने आ गए। हिंसा में जमकर पथराव और गोलीबारी हुई। पेट्रोल बम का इस्तेमाल किया गया। शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा समेत दर्जनों पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। गोकलपुरी टायर मार्केट की 20 दुकानें जलकर राख हो गईं। इन इलाकों में हालात अभी भी तनावपूर्ण बने हुए हैं।

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा हिंसा का मामला

दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, ब्रह्पुरी समेत दिल्ली के कई इलाकों में हिंसा के मामले में भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर की तरफ से पेश वकील महमूद प्राचा ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगाई है। जस्टिस संजय किशन कौल की पीठ के सामने दिल्ली कई इलाकों में हो रही हिंसा को लेकर अनुरोध किया। याचिका में कहा गया है कि जो हिंसा फैलाई गई उसे लेकर पुलिस को FIR दर्ज करने के आदेश दिए जाएं।

कई मेट्रो स्टेशन बंद

नागरिका संशोधन अधिनियम यानि सीएए को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन की वजह से दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने कई मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए हैं। ये स्टेशन हिंसा प्रभावित इलाकों में हैं। पूर्वी दिल्ली के हिंसाग्रस्त इलाकों के अलावा मंडी हाउस, दिल्ली गेट और आईटीओ मेट्रो स्टेशन को बंद किया गया है। ये सभी मेट्रो स्टेशन संवेदनशील भी हैं, जिसकी वजह से सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। पिंक लाइन मेट्रो सबसे ज्यादा प्रभावित है। जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एन्क्लेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन बंद होने की सूचना सोमवार को ही दे दी गई थी।

हिंसा की वजह से स्कूल भी बंद, परीक्षाएं रद्द

सीएए के विरोध में चल रहे विरोध प्रदर्शनों के उग्र होने से दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि हिंसा की वजह से स्कूल बंद रहेंगे और प्रभावित इलाकों में स्कूलों की परीक्षा भी रद्द कर दी गई हैं। बता दें कि इस समय पूरे देश में बोर्ड की परीक्षा का समय है, लेकिन हिंसा के मामलों को देखते हुए सरकार ने ये कदम उठाया है।

दिल्ली में उच्च स्तरीय बैठक, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद

दिल्ली में कई जगहों पर हो रही हिंसा को देखते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाई। इस बैठक में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल भी शामिल हुए। बैठक के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने लोगों से हिंसा न करने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

बिहार में बैन हुई एनआरसी, एनपीआर में भी होगा बदलाव

पटना। बिहार सरकार ने विधानसभा में प्रस्ताव पास कर एनआरसी को बैन कर दिया है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार […]

You May Like