बिहार में बालिका वधु का मामला: 13 साल की बच्ची से शादी कर रहा 30 साल का युवक गिरफ्तार

ePatrakaar

सूचना मिलते ही सक्रिय हुई पुलिस ने छापेमारी कर शादी रुकवाई और सात फेरे लेने से पहले ही दूल्हे और शादी करा रहे पंडित समेत पांच को गिरफ्तार कर लिया। 

गोपालगंज। बिहार के गोपालगंज जिले से चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां 13 साल की एक बालिका की शादी 30 साल के युवक से कराने की कोशिश की जा रही थी, लेकिन फेरों से ऐन पहले पुलिस पहुंच गई और दूल्हे समेत कई लोगों को हिरासत में ले लिया गया।

एक तरफ समाज में आधुनिक बदलावों का दावा किया जा रहा है, वहीं दूसरी तरफ देश के अधिकांश इलाके ऐसे भी हैं जहां सामाजिक बुराइयां अभी भी घर किए हुए हैं। सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा दे रही है, तो वहीं कई जगह लोग बेटी की कम उम्र में ही शादी कर विदा कर देने को अपना कर्तव्य समझते हैं। एक ऐसा ही मामला सामने आया है बिहार के गोपालगंज जिले में बाल विवाह कराने के आरोप में पुलिस ने मंदिर के पुजारी समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के अनुसार, बाल विवाह की यह घटना प्रसिद्ध थावे मंदिर की है। जिले के तुरकाहा की निवासी एक 13 साल की नाबालिग किशोरी की शादी हो रही थी। शादी की रस्म अदायगी चल ही रही थी कि इसकी जानकारी किसी ने महिला हेल्पलाइन को दे दी। इससे पहले किशोरी 30 साल के दूल्हे के साथ सात फेरे लेती, मौके पर पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने शादी करा रहे पंडित, रेस्ट हाउस के मालिक, दूल्हे के पिता और दूल्हे को गिरफ्तार कर लिया।

इस संबंध में पुलिस विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि महिला हेल्पलाइन को मिली सूचना के आधार पर कार्रवाई की गई। उन्होंने बताया कि 13 साल की नाबालिग किशोरी की शादी मीरगंज के साहेबचक इलाके के रहने वाले 30 साल के मुन्ना सिंह के साथ हो रही थी। हेल्पलाइन ने इसकी जानकारी तुरंत पुलिस प्रशासन को दी। सूचना मिलते ही सक्रिय हुई पुलिस ने छापेमारी कर शादी रुकवाई और सात फेरे लेने से पहले ही दूल्हे और शादी करा रहे पंडित समेत पांच को गिरफ्तार कर लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

भोजपुरी किताब 'अंजुरी भर चाउर' को रवि किशन से मिली तारीफ

इस दौरान बातचीत में सांसद रवि किशन ने कहा कि भोजपुरी को आठवी अनुसूची में ले आने के लिए वे दृढ़ संकल्पित हैं। इस बावत वे प्रधानमंत्री एवं गृह मंत्री को पत्र भी लिखेंगे।