कोरोना के कारण आईसीसी ने क्रिकेट में किए बड़े बदलाव, गेंद पर लार के उपयोग पर पेनल्टी

Ashu Yadav

कोरोना वायरस संक्रमण के फैलने की वजह से क्रिकेट पर ब्रेक लगा गया है, लेकिन अब धीरे-धीरे क्रिकेट को फिर से शुरू करने की तैयारी हो रही है. इसी के साथ मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने बड़ा फैसला लेते हुए क्रिकेट के नियमों में कुछ बदलाव किया है. ये सभी अंतरिम बदलाव खेल की स्थितियों में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लिए गया है ताकि क्रिकेट के चलते खिलाड़ियों और मैच अधिकारियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके.

Decorative
आईसीसी ने क्रिकेट में किए बड़े बदलाव

कोरोना वायरस संक्रमण के फैलने की वजह से क्रिकेट पर ब्रेक लगा गया है, लेकिन अब धीरे-धीरे क्रिकेट को फिर से शुरू करने की तैयारी हो रही है. इसी के साथ मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने बड़ा फैसला लेते हुए क्रिकेट के नियमों में कुछ बदलाव किया है.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की ओर से जारी बयान के अनुसार टेस्ट क्रिकेट में यदि किसी खिलाड़ी में कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण नजर आते हैं तो उसकी जगह किसी और खिलाड़ी को उतारा जा सकता है .कनकशन विकल्प की तरह मैच रेफरी इसके विकल्प को मंजूरी देंगे.इसमें यह भी कहा गया यह नियम वनडे या टी20 में लागू नहीं होगा.

आईसीसी ने कहा कि खिलाड़ियों को गेंद को चमकाने के लिए लार के इस्तेमाल की अनुमति नहीं रहेगी. खिलाड़ी अगर ऐसा करता है तो अंपायर शुरू में कुछ समय रियायत देंगे,लेकिन बार-बार उल्लंघन पर टीम को चेतावनी दी जाएगी और इसमें कहा गया कि टीम को दो चेतावनी मिलेगी. लेकिन बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम पर पांच रन की पेनल्टी लगाई जाएगी. गेंद पर जब भी लार लगाई जाएगी तो अंपायरों को उसे साफ करने के निर्देश रहेंगे.

खेलने के नए नियमों के तहत आईसीसी ने कोरोना महामारी के चलते ‘अंतरराष्ट्रीय यात्रा में लॉजिस्टिक की चुनौतियों’ का हवाला देते हुए द्विपक्षीय सीरीज में स्थानीय अंपायरों को भी मंजूरी दे दी.

दिग्गज गेंदबाज अनिल कुंबले की अध्यक्षता वाली क्रिकेट समिति ने ये सुझाव दिए थे, ताकि क्रिकेट बहाल होने पर कोरोना महामारी के चलते खिलाड़ियों और मैच अधिकारियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके और इसेके आधार पर आईसीसी की मुख्य कार्यकारी समिति (सीईसी) ने इन प्रस्तावों को मंजूरी दे दी है और इसके साथ सभी अंतरराष्ट्रीय फॉर्मेट में गैर तटस्थ अंपायरों को अंपायरिंग के लिए भी इन प्रस्तावों को मंजूरी दी है.

यह नियम इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच आठ जुलाई से तीन मैचों की टेस्ट सीरीज से लागू होगा. यह सीरीज दर्शकों के बिना आयोजित होगी.ये सभी अंतरिम बदलाव खेल की स्थितियों में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लिए गया है ताकि क्रिकेट के चलते खिलाड़ियों और मैच अधिकारियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके.

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

पिछले साल अगस्त में ही फैल गया था कोरोना वायरस,चीन अभी भी छिपा रहा हैं

नोबल कोरोना वायरस चीन के वुहान शहर के एक मीट बाज़ार से होकर पूरी दुनिया में पहुचा और पूरी दुनिया […]