झारखंड प्रवासी मजदूरों को हवाई जहाज से लाने वाला पहला राज्य बना

Ashu Yadav

झारखंड की राजधानी रांची के हवाईअड्डे पर गुरुवार को 180 प्रवासी मजदूरों को एयर एशिया के विमान से लाया गया था और इस अवसर पर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एलुमनाई नेटवर्क ऑफ नेशनल स्कूल ऑफ बेंगलुरु का आभार जताया है. इससे पूर्व ही झारखंड ने सबसे पहले पहल करके ट्रेन से श्रमिकों को वापस ला चुका है और यह क्रम अब भी जारी है.

Informative
प्रवासी मजदूरों को हवाई जहाज से लाया गया

झारखंड की राजधानी रांची के हवाईअड्डे पर गुरुवार को 180 प्रवासी मजदूरों को एयर एशिया के विमान से लाया गया था और इस अवसर पर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एलुमनाई नेटवर्क ऑफ नेशनल स्कूल ऑफ बेंगलुरु का आभार जताया है. इससे पूर्व ही झारखंड ने सबसे पहले पहल करके ट्रेन से श्रमिकों को वापस ला चुका है और यह क्रम अब भी जारी है.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि “यही मानवता है और इस पुनीत कार्य के लिए एलुमनाई नेटवर्क ऑफ नेशनल स्कूल ऑफ बेंगलुरु का योगदान सदैव सराहा जाएगा और साथ ही इस कार्य से अन्य लोग भी प्रेरित होंगे.”

सरकार ने दावा करते हुए कहा, लॉकडाउन के बाद यह देश में पहला मौका है, जब प्रवासी मजदूरों को विमान से अपने राज्य वापस लाया गया और यहां आने के बाद प्रवासी मजदूरों की स्क्रीनिंग हुई और उन्हें भोजन दिया गया और फिर बाद बस से उन्हें उनके गंतव्य भेजा गया.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रयासों से मजदूरों को हवाई मार्ग से उनके पैतृक राज्य लाया जा सका है. अधिकारी ने बताया कि मजदूरों को उनके संबंधित जिलों में भेजने के लिए रांची जिला प्रशासन की ओर से बसों की व्यवस्था की गई थी, जिनसे उन्हें उनके घरों के लिए रवाना किया गया.झारखंड लौटे प्रवासी मजदूरों ने रांची आकर सरकार का धन्यवाद दिया और उनमें से एक ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान वे परेशानी का सामना कर रहे थे और ऐसे में झारखंड सरकार की पहल से वे अपने घर लौट आए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

रेल यात्रा के नये नियम इनके बिना यात्रा करना मुमकिन नहीं होगा

70 दिनों के लॉक डाउन के बाद सरकार चरणबद्ध तरीके से इसे खोल रही हैं.इसमें सबसे पहले ट्रेन और हवाई […]