लोन होगा सस्ता, तीन महीने तक और जारी रहेगी ईएमआई न भरने की मोहलत

Ashu Yadav

लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान आरबीआई ने बैंकों से 3 महीने के लिए लोन और ईएमआई पर छूट देने को कहा था और अब फिर से नए 3 महीनों के लिए मोहलत के ऐलान किया हैं

Informative
RBI की बड़ी घोषणा, बैंको को EMI आगे बढ़ने की दी सलाह

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी के संकट को देखते हुए मोदी सरकार ने 21 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था । वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने देश के सामने इस पैकेज का ब्यौरा दिया था और अब रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने मीडिया से बातचीत करते हुए रेपो रेट कटौती का ऐलान किया है । इस कटौती के बाद से आरबीआई की रेपो रेट 4.40 फीसदी से घटकर 4 फीसदी हो गई है और साथ ही लोन की किस्‍त देने पर 3 महीने की अतिरिक्‍त छूट दी गई है, ताकि अगर आप 3 महीने तक अपने लोन की ईएमआई नहीं देते हैं तो बैंक आप पर दबाव नहीं डालेगा।

आरबीआई गवर्नर ने बताया कि पिछले तीन दिन से एमपीसी ने घरेलू और ग्लोबल माहौल की समीक्षा की है और इसके बाद ही रेपो रेट में 0.40 फीसदी की कटौती का फैसला लिया गया है।

लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान आरबीआई ने बैंकों से 3 महीने के लिए लोन और ईएमआई पर छूट देने को कहा था और अब फिर से नए 3 महीनों के लिए मोहलत के ऐलान किया हैं जिसके बाद अब ग्राहकों को कुल 6 महीने की छूट मिल जाएगी ।

पीएम नरेंद्र मोदी ने 12 मई को कोरोना से प्रभावित देशवासियों और अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज का ऐलान किया था। इसके बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लगातार पांच दिन प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई ऐलान किए थे जिनमें एमएसएमई को 3 लाख करोड़ रुपये का लोन देने का प्रस्ताव भी था।

इससे पहले भी 17 अप्रैल को कोरोना संकट और लॉकडाउन के चलते रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने कई राहत का ऐलान किया था। जिसमें भी रिवर्स रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट की कटौती की गई थी और अब लॉकडाउन में यह दूसरी बार है जब आरबीआई ने फिर से रेपो रेट पर कैंची चलाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

कोटा से छात्रों की वापसी के लिए योगी सरकार ने राजस्थान सरकार के 36.36 लाख बिल का किया भुगतान

योगी सरकार ने राजस्थान सरकार की ओर से भेजे गए 36 लाख 36 हजार के बिल का भुगतान कर दिया है । यह बिल कोटा से बच्चों को आगरा और मथुरा पहुंचाने पर राजस्थान रोडवेज ने यूपीएस आरटीसी को भेजा था ।
Informative

You May Like