कश्मीर में बड़ा आतंकी हमला टला

Aashukesh Tiwari

उस हमले को पुलवामा पुलिस, सीआरपीएफ और आर्मी के जवानों ने मिल कर नाकाम किया।
गुरुवार को पुलवामा के पास एक सैंट्रो गाड़ी में IED (इंप्रोवाइज्ड एक्स्प्लोसिव डिवाइस) प्लांट की गई थी, जिसकी समय रहते हुए पहचान कर ली गई

कश्मीर में बड़ा आतंकी हमला टला

कश्मीर में बड़ा आतंकी हमला टला। आपको बता दे की जम्मू कश्मीर के पुलवामा में एक और आतंकी हमले को अंजाम देने की साजिश की जा रही थी। उस हमले को पुलवामा पुलिस, सीआरपीएफ और आर्मी के जवानों ने मिल कर नाकाम किया। गुरुवार को पुलवामा के पास एक सैंट्रो गाड़ी में IED (इंप्रोवाइज्ड एक्स्प्लोसिव डिवाइस) प्लांट की गई थी, जिसकी समय रहते हुए पहचान कर ली गई। जिसके बाद बम डिस्पोज़ल स्क्वायड ने वक्त रहते ही इस बम को डिफ्यूज़ कर दिया। अब इस मामले की जांच एनआईए करेगी, जल्द ही एनआईए इस इलाके का दौरा करेगी।

सुरक्ष बालों के जवानों ने मिल कर IED प्लांट का पता लगाय जिसके बाद बम डिस्पोज़ल स्क्वायड को बुलाया गया जिसके बाद बम डिस्पोज़ल स्क्वायड ने प्लांट को डिफ्यूज कर दिया। यह भी बताया जा रहा है कि पुलवामा के राजपोरा रोड पर आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद का एक आतंकी इस कार को चला रहा था। हलाकी गोलीबारी के बाद आतंकी भाग गया और गाड़ी को शाहीदपुर से बरामद किया गया।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों ने एक बार फिर फरवरी 2019 जैसी घटना को अंजाम दिए जाने की साजिश को नाकाम कर दिया। आतंकवादी एक बार फिर विस्फोटक भरी कार को सुरक्षाबलों की गाड़ियों से टकरना चाहते थे। पिछले साल 14 फरवरी को इसी तरह के आत्मघाती हमला में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के आईजी विजय कुमार ने बताया कि यह साजिश जैश-ए-मोहम्मद की थी और हिज्बुल मुजाहिद्दीन इसमें मददगार था। दोनों आतंकवादी संगठन मिलकर एक बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे।

आईजी विजय कुमार ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया, “हमें पिछले सप्ताह से ही जानकारी मिल रही थी कि जैश-ए-मोहम्मद और हिज्बुल मुजाहिद्दीन मिलकर फिदायीन हमला करने वाले हैं। इसके लिए इन्होंने सेंट्रो कार ली है, इसमें आईडी भरकर हमला किया जा सकता है। कल दिन में और जानकारी मिली शाम तक सूचना पुष्ट हो गई। पुलवामा पुलिस ने सीआरपीएफ और सेना कि मदद से नाका पार्टी लगाया था।”

विजय कुमार ने कहा, “आयनगुंड में जब वह गाड़ी दिखी तो नाका पार्टी ने वार्निंग फायरिंग की, लेकिन इसके बावजूद वह भागा। अगले नाका पर भी फायरिंग हुई। इसके बाद वह गाड़ी छोड़कर जंगल में भाग गया। सुबह बम डिस्पोजल स्क्वायड ने कार की जांच की। सुरक्षबालों ने बहुत बड़ी घटना को रोक लिया है।”

आईजी ने बताया कि हमें जानकारी मिली थी कि जैश का आतंकवादी इस घटना को अंजाम देने वाला है। यह जंग-ए-बदर के दिन (रमजान का 17वां दिन, इस बार यह 11 मई को था) ही होना था। उस दौरान बहुत अधिक सख्ती होने की वजह से उस दौरान ये नहीं कर पाए। उन्होंने कहा, “हिज्बुल का आतंकी आदिल जो जैश के साथ भी चलता है और पुलवामा में पाकिस्तान का जैश का आतंकी कमांडर फौजी भाई, इस घटना को अंजाम देने वाला था। ये सुरक्षाबलों के किसी गाड़ी को निशाना बनाने वाले थे।”

उन्होंने कहा कि जांच के लिए बाहर से भी टीम बुलाई जा रही है। कार को उड़ाते समय लपटें करीब 50 मीटर तक उठी थी, पुलिस ने बताया कि विस्फोटक करीब 40-45 किलो हो सकता है। वही आज से कुछ दिन पहले पुलवामा में सुरक्षा बालो के जवानो ने 2 आतंकियों को मार गिराया था

साल 2019 के फरवरी महीने की 14 तारीख ने देश को झकझोर कर रख दिया था। , इस आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर हमलावर ने विस्फोटक भरी कार से सीआरपीएफ काफिले की बस को टक्कर मार दी थी। धमाका इतना भयंकर था कि बस के परखच्चे उड़ गए। इसके बाद घात लगाए आतंकियों ने अंधाधुंध फायरिंग भी की। हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।

Image source: Google

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

कोरोना वायरस के लिए हो रही वैक्सीन बनाने की कोशिश:-डॉ. राघवन

प्रेस कॉन्फ्रेंस में डॉ. के. विजय राघवन ने बताया है कि देश में वैक्सीन बनाने की प्रक्रिया जोरों पर है और देश में 30 ग्रुप हैं जो कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीन बनाने की कोशिश कर रहे हैं और यह बहुत रिस्की प्रॉसेस है.
Informative

You May Like