नस्लीय भेद-भाव के खिलाफ दुनिया भर में चल रहे प्रदर्शनों को विश्व स्वास्थय संगठन का समर्थन

Sushmit Sinha

सोमवार को एक बैठक में विश्व स्वास्थय संगठन ने कहा कि दुनिया भर में कोरोनावायरस की स्थति बिगड़ती जा रही है। सोमवार को पूरी दुनिया में कोरोना संक्रमितों कि संख्या 70 लाख के पार पहुंच गई।

डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस एदनहोम गेब्रेयासिस ने कहा, “हालांकि यूरोप में हालात सुधर रहे हैं, लेकिन वैश्विक तौर पर ये खराब हो रहे हैं। पिछले 10 दिनों में से 9 दिन रोजाना 1 लाख से ज्यादा केस रिपोर्ट किए गए।

रविवारको दुनियाभर में कोरोना वायरस के 136,000 नए केस रिपोर्ट किए गए। ये दुनियाभर में एक दिन का सबसे बड़ा आंकड़ा है।” उन्होंने आगे कहा कि इसमें से 75% केस 10 देशों में सामने आए हैं, जिनमें से अधिकतर देश अमेरिका और दक्षिण एशिया में हैं।

उन्होंने कहा, “इन देशों में अब सबसे बड़ा ख़तरा यह है कि यह अपनी उपलब्धि को लेकर आत्मसंतुष्ट हैं। शोध से आए परिणामों में पाया गया है कि विश्व में अभी भी अधिकांश लोग संक्रमण के दायरे में हैं।”

प्रदर्शनकारी सतर्कता के साथ करें प्रदर्शन

अश्वेत अमेरिकी नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस के द्वारा हत्या कर दिये जाने पर पूरे अमेरिका सहित विश्व भर में प्रदर्शन हो रहे हैं। हालांकि अमेरिका में ये प्रदर्शन कुछ ज्यादा ही उग्र हो गए। जिसके कारण अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को एक दिन के लिए व्हाइट हाउस में बने बंकर में छुपना पड़ गया था। डॉ टेड्रोस कहते हैं, “विश्व स्वास्थ्य संगठन हर ऐसे आंदोलन का समर्थन करता है जो किसी भी प्रकार के असमानता और नस्लवाद के खिलाफ हो।
उन्होंने कहा, “हम किसी भी प्रकार के भेदभाव को अस्वीकार करते हैं। हम दुनियाभर में विरोध कर रहे सभी लोगों को सुरक्षित रूप से ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। जितना संभव हो, दूसरों से कम से कम एक मीटर की दूरी पर रहें, अपने हाथों को साफ करें, खांसी आने पर फेस कवर करें और अगर आप प्रदर्शन करते हैं तो मास्क ज़रूर पहनें। लेकिन अगर आप बीमार हैं, तो प्लीज़ घर पर ही रहें।”

चेहरे पर मास्क जरूर पहनें

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने फेस मास्क पर अपनी सलाह को बदलते हुए कहा कि, “हमें कोरोनावायरस से बचने के लिए फेस मास्क का जरूर इस्तेमाल करना चाहिए।” आपको बता दें की पहले WHO ने कहा था कि फेस मास्क कोरोना से बचाव में प्रभावी नहीं है।

अब अमेरिका बन गया है कोरोना एपिसेंटर

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा पहले इस महामारी का एपिसेंटर यूरोप था, लेकिन अब अमेरिका कोरोना वायरस का एपिसेंटर बन गया है। सबसे ज्यादा केसों के मामले में दूसरे नंबर पर लैटिन अमेरिका का देश ब्राजील है, जहां कोरोना के सात लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। इसके बाद रूस, यूके और भारत हैं। रूस में कोरोना साढ़े चार लाख से ज्यादा केस हैं। वहीं यूनाइडेट किंगडन में कोरोना के 2.88 लाख और भारत में 2.56 लाख पार कर गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

राम मंदिर का शिलान्यास पीएम मोदी से कराने की तैयारी,चंपत राय करेंगे नरेंद्र मोदी से मुलाकात

इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से शिलान्यास के लिए वक्त लेने और आगे की कार्ययोजना पर चर्चा की गई है और इसी के साथ इस बैठक में यह फैसला लिया गया कि चंपत राय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलेंगे.अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास के अनुसार भगवान राम ने लंका पर विजय प्राप्ति से पहले भगवान रामेश्वरम की स्थापना कर अभिषेक किया था, इसलिए मंदिर निर्माण से पहले भगवान शशांक शेखर का पूजन किया जाएगा.
informative