RBI गवर्नर की प्रेस कांफ्रेंस के बाद सेंसेक्‍स और निफ्टी में गिरावट

Ashu Yadav
Functional
सेंसेक्‍स और निफ्टी के अंकों में आई गिरावट

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया [आरबीआई] के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कई ऐलान किए, जिसमें रेपो रेट कटौती, ईएमआई मोहलत समेत कई बड़े ऐलान शामिल है। लेकिन इसका असर शेयर बाजार पर नहीं दिखाई दिया गया । शक्‍तिकांत दास की प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के बाद सेंसेक्‍स 350 अंक तक लुढ़क कर 30 हजार और 600 अंक के नीचे कारोबार कर रहा था और इसी प्रकार निफ्टी में 60 अंकों की गिरावट आई और यह 9100 अंक के नीचे कारोबार कर रहा था।

अर्थव्यवस्था के धीरे.धीरे खुलने से एफएमसीजी और वाहन कंपनियों ने शेयरों में खरीदारी से गुरुवार को बीएसई सेंसेक्स के अंक को पर 114 चढ़ गया था। इस प्रकार बीएसई का सेंसेक्स दिन में एक समय में 370 अंक तक चढ़ गया और यह 114.29 अंक या फिर 0.37 प्रतिशत की बढ़त के साथ 30,932.90 अंक पर बंद हुआ था। इसी तरह एनएसई का निफ्टी 39.70 अंक या फिर 0.44 प्रतिशत लाभ के साथ 9,106.25 अंक पर बंद हुआ । इसी कारण लगातार तीसरा सत्र में शेयर बाजार में तेजी देखी गयी ।

कारोबारियों ने कहा कि अर्थव्यवस्था को धीरे.धीरे खोला जा रहा है । अब तो रेल और हवाई सेवाएं भी शुरू हो रही हैं इसी वजह से निवेशकों में उत्साह तो है परतु कोरोना वायरस महामारी की वजह से निवेशक सतर्कता भी बरत रहे हैं ।

देश के प्रमुख शेयर बाजार बीएसई को बीते वित्त वर्ष में 1.94 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष में 51.86 करोड़ रुपये का लाभ हुआ था। एनएसई को भेजी सूचना में बीएसई ने कहा हैं कि जनवरी से मार्च 2020 के दौरान उसकी कुल आय 155.79 करोड़ रुपये रह गई हैं और इससे पिछले वित्त वर्ष के दौरान उसकी कुल आय 182.08 करोड़ रुपये रही थी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

राजद भोजनालय के लालू रसोई से भर रहा था गरीबों का पेट, उखाड़ने पहुंचा प्रशासन तो तेजस्वी ने दिया करारा जवाब

प्रशासन की इस घृणित कार्रवाई पर तेजस्वी यादव ने सरकार को उल्टे हाथों लिया। उन्होंने कहा कि हम वोटबैंक नहीं, जन हित का काम कर रहे हैं। अगर बीजेपी-जेडीयू को अपने नेताओं के होर्डिंग लगाने हैं, तो वो शौक से लगाए। लेकिन राजद भोजनालय को चलने दे।

You May Like