प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2.0 का एक साल पूरा होने पर, मोदी ने देशवासियों के लिए चिट्ठी

Ashu Yadav

आज से एक साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रचंड जनादेश के साथ दूसरी बार देश की सत्ता पर विजय हासिल करके सत्ता पर विराजमान हुए थे और आज दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने पर मोदी ने देशवासियों के लिए एक चिट्ठी लिखी है. जिसमें उन्होंने बीते एक वर्ष में सरकार की सभी उपलब्धियों और चुनौतियों का भी जिक्र किया है….

Decorative
नरेंद्र मोदी दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा

आज से एक साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रचंड जनादेश के साथ दूसरी बार देश की सत्ता पर विजय हासिल करके सत्ता पर विराजमान हुए थे और आज दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने पर मोदी ने देशवासियों के लिए एक चिट्ठी लिखी है. जिसमें उन्होंने बीते एक वर्ष में सरकार की सभी उपलब्धियों और चुनौतियों का भी जिक्र किया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी चिट्ठी में जम्मू-कश्मीर के अनुच्छेद 370, राम मंदिर, तीन तलाक और नागरिक संशोधन बिल (CAA) का भी जिक्र किया है और साथ ही मोदी ने यह भरोसा जताया कि जैसे देश कोरोना से लड़ा है वैसे ही आर्थिक मोर्चे पर भी मिसाल कायम करेगा.

प्रधानमंत्री ने पत्र में मजदूरों की तकलीफ का भी जिक्र किया. प्रधानमंत्री मोदी ने पत्र में लिखा कि आज से एक साल पहले भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में एक नया स्वर्णिम अध्याय जुड़ा था . देश में दशकों बाद पूर्ण बहुमत से किसी सरकार को लगातार दूसरी बार जनता ने जिम्मेदारी सौंपी थी. इस अध्याय को रचने में जनता की बहुत बड़ी भूमिका रही है.

मोदी राजनीतिक में बड़ा जोखिम उठाने का दम रखते हैं, वो अपने फैसलों से सबको चौंकाते भी हैं जैसे – नोटबंदी, 370 का खात्मा, सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक जैसे कदम इसके उदाहरण हैं. तीन तलाक के खिलाफ कानून और नागरिकता संशोधन कानून बताता है कि मोदी जो ठान लेते हैं वो करके दिखाते हैं.

उज्ज्वला योजना, शौचालय, आवास योजना और किसान सम्मान निधि जैसी योजना यह संदेश देने के लिए काफी हैं कि उनके पास समाज के हर वर्ग को देने के लिए कुछ न कुछ है. योग दिवस, हाउडी मोदी और नमस्ते ट्रंप जैसे आयोजन दुनिया को भारत की धमक और मोदी के असर का अहसास कराते हैं. कोरोना संकट के दौर में उनकी एक अपील पर देशभर का ताली-थाली बजाना या दीप जलाना बताता है कि देश के जनमानस पर उनकी पकड़ कितनी गहरी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

लेह में फंसे 60 प्रवासी मजूदरों को हवाईमार्ग से वापस लाए गए

लेह में फंसे झारखंड के 60 प्रवासी मजूदरों को शुक्रवार को हवाईमार्ग से रांची लाया गया और इस मौके पर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने हवाईजहाज से लौटने वाले प्रवासी मजदूरों का स्वागत किया और उन्होंने प्रवासी मजदूरों से बातचीत कर उनका हालचाल भी जाना.
Decorative