पीएम मोदी ने मजदूरों के लिए शुरू की गरीब कल्याण रोजगार अभियान योजना, 6 राज्यों के 116 जिलों में मिलेगा फायदा

Ashu Yadav

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ‘आज का दिन बहुत ऐतिहासिक है.आज गरीब कल्याण के लिए, उसके रोजगार के लिए एक बहुत बड़ा अभियान शुरू हुआ है और यह अभियान समर्पित है हमारे श्रमिक भाई-बहनों व हमारे गांवों में रहने वाले नौजवानों-बहनों-बेटियों को.

Informative
पीएम मोदी ने शुरू की गरीब कल्याण रोजगार योजना

नई दिल्ली: कोरोना संकट के कारण हुए लॉकडाउन की वजह से प्रवासी मजदूरों को तमाम परेशानियों का सामना करना पड़ा है और इस कारण प्रवासी श्रमिक बड़े पैमाने पर घर लौटने के लिए मजबूर हो गए. ऐसे में मजदूरों के सामने रोजगार का संकट भी खड़ा हो गया है.

गरीब कल्याण रोजगार अभियान योजना का शुभारम्भ

इस बीच प्रवासी श्रमिक की हालात को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शनिवार को वीडियो कॉनफ्रेंसिंग के जरिए गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत की. इस योजना के डिजिटल शुभारंभ में देश के ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी हिस्सा लिया. यह गरीब कल्याण रोजगार अभियान बिहार के खगड़िया जिले के ग्राम-तेलिहार, ब्लॉक- बेलदौर से शुरू किया गया.

इस योजना का मकसद प्रवासी श्रमिकों और गांव के लोगों को सशक्त बनाना, स्थानीय स्तर पर विकास को गति देना और आजीविका के अवसर प्रदान करना है.

कार्यक्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान, मैंने बिहार लौटने के बाद विभिन्न जिलों में मजदूरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बातचीत की. मुझे लगा कि वे काम के लिए दूसरे राज्यों में नहीं जाना चाहते है

नीतीश कुमार ने कहा कि गरीब कल्याण योजना से काफी लोगों को लाभ मिलेगा. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने गरीब कल्याण योजना के जरिये लोगों की मदद का प्रयास किया है यह सराहनीय है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि लद्दाख में हमारे वीरों ने जो बलिदान दिया है, मैं गौरव के साथ इस बात का जिक्र करना चाहूंगा कि ये पराक्रम बिहार रेजीमेंट का है, हर बिहारी को इसका गर्व होता है. जिन सैनिकों ने अपना बलिदान दिया है उन्हें मैं श्रद्धांजलि देता हूं.

इस दौरान,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-चीन मसले पर कहा कि पूरा देश भारतीय सेना के साथ है.पीएम मोदी ने कहा कि लद्दाख में जिन वीरों ने बलिदान दिया है. ये पराक्रम बिहार रेजीमेंट का है. हर बिहारी को इस पर गर्व है. बिहार के जिन साथियों ने बलिदान दिया है उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं. मैं विश्वास दिलाना चाहता हूं देश आपके साथ है.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत लोगों ने कोरोना का डंटकर मुकाबला किया. देश के गांवों ने शहरों को ज्यादा सबक दिया है. गांव के लोगों ने कोरोना को प्रभावी तरीके से रोका है. पीएम मोदी ने कहा कि 6 लाख से ज्यादा गांवों वाला हमारा देश, जिनमें भारत की दो-तिहाई से ज्यादा आबादी है और जहां करीब 80-85 करोड़ लोग रहते हैं, उस ग्रामीण भारत में कोरोना के संक्रमण को आपने बहुत ही प्रभावी तरीके से रोका है. कोरोना का इतना बड़ा संकट, पूरी दुनिया जिसके सामने हिल गई, सहम गई, लेकिन आप डटकर खड़े रहे. भारत के गावों में तो कोरोना का जिस तरह मुकाबला किया है, उसने शहरों को भी बहुत बड़ा सबक दिया है.

पीएम मोदी ने कहा कि इतनी बड़ी जनसंख्या का कोरोना का इतने साहस से मुकाबला करना और इतनी सफलता से मुकाबला करना बहुत बड़ी बात है. इस सफलता के पीछे हमारे ग्रामीण भारत की जागरूकता ने काम किया है, लेकिन इसमें भी जमीनी स्तर पर काम करने वाले हमारे साथी, ग्राम प्रधान, आंगनवाड़ी वर्कर, आशावर्कर्स, जीविका दीदी, इन सभी ने बहुत बेहतरीन काम किया है. ये सभी प्रशंसा के पात्र हैं. मोदी ने कहा कि कोई आपकी तारीफ करे या न करें. मैं आपकी तारीफ करता हूं. मैं इस शक्ति को नमन करता हूं. देश के गांवों को नमन. शत शत नमन. मुझे बताया गया है कि परसों से पटना में आधुनिक मशीन कोरोना टेस्टिंग शुरू करने वाली है. मैं बिहार के लोगों को बधाई देता हूं.

116 जिलों में अभियान
पीएम मोदी ने कहा कि बिहार, उत्तर प्रदेश, झारखंड, ओडिशा, मध्य प्रदेश और राजस्थान के 116 जिलों में ये अभियान पूरे जोर-शोर से चलाया जाएगा. इन दिनों देश के हर शहर को गति और प्रगति देने वाले श्रमिक जब अपना श्रम और हुनर खगड़िया जैसे ग्रामीण इलाकों में लगेगा, तो इससे बिहार के विकास को भी गति मिलेगी. गरीब कल्याण रोज़गार अभियान के तहत आपके गांवों के विकास के लिए, आपको रोजगार देने के लिए 50 हज़ार करोड़ रुपए खर्च किए जाने हैं. इस राशि से गांवों में रोजगार के लिए, विकास के कामों के लिए करीब 25 कार्यक्षेत्रों की पहचान की गई है.

ये होंगे कामजल जीवन मिशन, ग्राम सड़क योजना जैसी कई सरकारी योजनाओं के जरिए प्रवासियों को काम के अवसर उपलब्ध कराए जाएंगे.इस योजना के तहत सामुदायिक स्वच्छता परिसर का निर्माण, ग्राम पंचायत भवन, राष्ट्रीय राजमार्ग के काम, कुओं का निर्माण, आंगनवाड़ी केंद्र का काम, पीएम आवास योजना का काम, ग्रामीण सड़क और सीमा सड़क, पीएम कुसुम योजना, पीएम ऊर्जा गंगा प्रोजेक्ट, पशु शेड बनाने का काम, केंचुआ खाद यूनिट तैयार करना, पौधारोपण, जल संरक्षण और संचयन, भारतीय रेलवे के तहत आने वाले कामों की तरह ही अन्य कामों को भी शामिल किया गया है.

मंत्रालय का मिशन मोड
125 दिनों का यह अभियान मिशन मोड में चलाया जाएगा. 50 हजार करोड़ रुपये के फंड से एक तरफ प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने के लिए विभिन्न प्रकार के 25 कार्यों का तीव्र और केंद्रित होकर क्रियान्वयन होगा, तो दूसरी तरफ देश के ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे का निर्माण किया जाएगा. योजना का समन्वय 12 मंत्रालय कर रहे हैं जिसमें ग्रामीण विकास, पंचायती राज, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, खान, पेयजल और स्वच्छता, पर्यावरण, रेलवे, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, नई और नवीकरणीय ऊर्जा, सीमा सड़क, दूरसंचार और कृषि का एक समन्वित प्रयास होगा.

आत्मसम्मान की होगी रक्षा
पीएम मोदी ने कहा कि स्थानीय उत्पाद हैं जिनसे जुड़े उद्योग समीप में ही लगाए जाने की योजना है. हमारा उद्देश्य गांव, गरीब किसान अपने दम पर खड़ा हो. किसी के सहारे की जरूरत न हो. गरीब कल्याण से श्रमिकों के आत्मसम्मान की रक्षा होगी. यह सेवक आपके मान-सम्मान के लिए काम कर रहा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘बिहार में मखाना है, लीची है, केला है! यूपी में आंवला है, आम है, राजस्थान में मिर्च है, मध्य प्रदेश की दालें हैं, ओडिशा में-झारखंड में वनों की उपज हैं, हर जिले में ऐसे अनेक लोकल उत्पाद हैं, जिनसे जुड़े उद्योग पास में ही लगाए जाने की योजना है.आत्मनिर्भर भारत अभियान की शुरुआत ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना से हुई थी.

गरीबों के कल्याण के लिए बड़ा अभियान
पीएम मोदी ने श्रमिकों का जिक्र करते हुए कहा कि आप श्रमेव जयते, श्रम की पूजा करने वाले लोग हैं, आपको काम चाहिए, रोजगार चाहिए. इस भावना को सर्वोपरि रखते हुए ही सरकार ने इस योजना को बनाया है, इस योजना को इतने कम समय में लागू किया है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ‘आज का दिन बहुत ऐतिहासिक है.आज गरीब कल्याण के लिए, उसके रोजगार के लिए एक बहुत बड़ा अभियान शुरू हुआ है और यह अभियान समर्पित है हमारे श्रमिक भाई-बहनों व हमारे गांवों में रहने वाले नौजवानों-बहनों-बेटियों को.

योजना का श्रेय प्रवासी मजदूरों को
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मुझे इस योजना की प्रेरणा कुछ श्रमिक साथियों से ही मिली. मैंने लॉकडाउन में एक उन्नाव की एक खबर देखी, वहां एक स्कूल को क्वारनटीन सेंटर बनाया था. वहां रहने वाले प्रवासी मजदूरों ने अपनी कुशलता का परिचय दिया और स्कूल की रंगाई पुताई कर आकर्षक बना दिया.

प्रधानमंत्री मोदी की अपील

पीएम मोदी ने मास्क लगाने की अपील की. बाहर निकले तो मास्क लगाएं और दो गज की दूरी का ध्यान रखें. यह जीवन और आजीविका के लिए जरूरी है.आप स्वस्थ रहें और देश आगे बढ़े.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

कांग्रेस ने पूछा मोदी से सवाल, हमारे जवान किसके क्षेत्र में शहीद हुए?

कांग्रेस ने ट्वीट किया, चीन दावा कर रहा है कि वह (भारतीय जवान) हमारे क्षेत्र में आए. पीएम मोदी दावा कर रहे हैं कि चीन कभी हमारे क्षेत्र में नहीं आया. गलवान घाटी में हमारे 20 जवान शहीद हो गए.
Decorative