कोरोना वायरस संकट पर पीएम मोदी की मुख्यमंत्रियों संग बैठक

Ashu Yadav

पीएम मोदी ने कहा हैं कि भविष्य में जब कभी भारत की कोरोना के खिलाफ लड़ाई का अध्ययन होगा, तो ये दौर इसलिए भी याद किया जाएगा कि कैसे इस दौरान हमने साथ मिलकर काम किया हैं और हमने Co-operative Federalism का सर्वोत्तम उदाहरण प्रस्तुत किया हैं.

Informative
मोदी की मुख्यमंत्रियों संग बैठक

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की स्थिति बेकाबू होती जा रही हैं और हर रोज कोरोना वायरस के आते 10 हजार से ज्यादा केस और अनलॉक की प्रक्रिया के बीच आज और कल का दिन काफी महत्वपूर्ण होने वाला है क्योंकि इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार और बुधवार को वीडियों कांफ्रेंसिंग के जरिए देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से साथ बैठक की.

मंगलवार की बैठक में 21 राज्य शामिल

आज की इस बैठक में 21 राज्यों शामिल हैं,जिसमें पंजाब, असम, केरल, उत्तराखंड, झारखंड, छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, गोवा, मणिपुर, नगालैंड, लद्दाख, पुडुचेरी, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, मिजोरम, अंडमान-निकोबार, दादर-नगर हवेली दमन-दीव, सिक्किम और लक्षद्वीप शामिल हैं.इन राज्यों में कोरोना वायरस के केस अधिक नहीं हैं.

इस बैठक में पीएम मोदी ने 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों, उपराज्यपालों और शीर्ष अधिकारियों से बातचीत की है. इस बैठक में पूर्वोत्तर राज्यों समेत कुछ केंद्र शासित प्रदेश शामिल के मुख्यमंत्री भी शामिल थे.

पीएम मोदी ने कहा हैं कि भविष्य में जब कभी भारत की कोरोना के खिलाफ लड़ाई का अध्ययन होगा, तो ये दौर इसलिए भी याद किया जाएगा कि कैसे इस दौरान हमने साथ मिलकर काम किया हैं और हमने Co-operative Federalism का सर्वोत्तम उदाहरण प्रस्तुत किया हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा हैं कि दुनिया के बड़े-बड़े एक्सपर्ट्स, हेल्थ के जानकार, लॉकडाउन और भारत के लोगों द्वारा दिखाए गए अनुशासन की आज चर्चा कर रहे हैं और भारत में रिकवरी रेट भी अब 50 प्रतिशत से ऊपर है. आज भारत दुनिया के उन देशों में अग्रणी है जहां कोरोना संक्रमित मरीजों का जीवन बच रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि हमें इस बात का हमेशा ध्यान रखना है कि हम कोरोना वायरस का बढ़ना जितना रोक पाएंगे उतनी ही हमारी अर्थव्यवस्था खुलेगी, हमारे दफ्तर खुलेंगे, मार्केट खुलेंगे, ट्रांसपोर्ट के साधन खुलेंगे और उतने ही रोजगार के नए अवसर भी बनेंगे.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारे यहां जो छोटी फैक्ट्रियां हैं उन्हें गाइडेंस की, हैंड होल्डिंग की बड़ी जरूरत है. मुझे पता है आपके नेतृत्व में इस दिशा में काफी काम हो रहा है. पीएम ने कहा कि ट्रेड और इंडस्ट्री अपनी पुरानी रफ्तार पकड़ सकें, इसके लिए वैल्यू चैंस पर भी हमें मिलकर काम करना होगा.

मुख्यमंत्रियों से बातचीत में नरेंद्र मोदी ने कहा कि किसान के उत्पाद की मार्केटिंग के क्षेत्र में हाल में जो बदलाव किए गए हैं, उससे किसानों को बहुत लाभ होगा. इससे किसानों को अपनी उपज को बेचने के लिए नए विकल्प उपलब्ध होंगे, उनकी आय भी बढ़ेगी और स्टोरेज के अभाव के कारण उनको जो नुकसान होता था, उसे भी हम कम कर पाएंगे.

पीएम मोदी ने कहा है कि लोकल प्रोडक्ट के लिए जिस क्लस्टर बेस्ड रणनीति की घोषणा की गई है, उसका भी लाभ हर राज्य को होगा. इसके लिए जरूरी है कि हम हर ब्लॉक, हर जिले में ऐसे प्रोडक्ट्स की पहचान करें, जिनकी प्रोसेसिंग और मार्केटिंग करके, एक बेहतर प्रोडक्ट हम देश और दुनिया के बाज़ार में उतार सकते हैं.

पीएम मोदी ने लोगों से दो गज की दूरी, सैनिटाइजर का इस्तेमाल और हैंड वॉश को अपनाने की अपील की.मोदी ने कहा कि आज देश के लगभग सारे ऑफिस खुल चुके हैं और ऐसे में ये सारे उपाय कोरोना को रोकने में मददगार होंगे.

मुख्यमंत्रियों, राज्यपाल और उपराज्यपाल के संग बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अनलॉक 1 के बाद दो सप्ताह बीत चुके हैं और इस दौरान हमारा अनुभव भविष्य में हमारे लिए फायदेमंद हो सकता है.आज मुझे आपसे जमीनी हकीकत जानने को मिलेगी, आपके सुझावों से भविष्य की रणनीति का पता लगाने में मदद मिलेगी.

कोरोना वायरस से जंग की रणनीति

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर मोर्चा संभाला है. मुख्यमंत्रियों के साथ आज फिर उन्होंने बैठक की. बैठक का मकसद कोरोना के खिलाफ जंग को तेज करना है.

बातचीत का एक दूसरा चरण बुधवार को होगा

इसके अलावा बातचीत का एक दूसरा चरण बुधवार को होगा, जिनमें 15 राज्यों शामिल हैं,जिसमें दिल्ली-महाराष्ट्र-तमिलनाडु-राजस्थान-उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल होंगे. देश में कोरोना वायरस के कुल मामलों में से करीब 70 फीसदी मामले ऐसे ही राज्यों से सामने आ रहे हैं, जिनमें दिल्ली-मुंबई,चेन्नई और अहमदाबाद जैसे शहर महत्वपूर्ण हैं.

देश में अभी तक तीन लाख 43 हजार मामले सामने आए

देश में अभी तक कोरोना वायरस के तीन लाख 43 हजार मामले सामने आ गए हैं और 9900 लोगों की मौत हो गई है.कोरोना को लेकर मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम मोदी की यह छठी बैठक होगी.कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन हुए कोरोना संक्रमित, अस्पताल में रहेंगे भर्ती

सत्येंद्र जैन को तेज बुखार और सांस लेने में दिक्कत होने पर मंगलवार को राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी में अस्पताल में भर्ती करवाया गया था और इसी के साथ सत्येंद्र जैन का कोरोना टेस्ट पहले भी हुआ, जिसमें उनकी कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आई थी,लेकिन बुधवार को सत्येंद्र जैन की दूसरी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई हैं.
Informative