बेहद अत्याधुनिक घातक राफेल लड़ाकू विमानों ने हिमाचल में शुरू की प्रैक्टिस

Janardan Yadav

इंडियन एयरफोर्स के अम्बाला बेस पर 29 जुलाई को उतरे 5 राफेल जेट प्रैक्टिस की लिए हिमाचल की पहाड़ियों पर गर्जना शुरू कर दी है,फ्रांस की कंपनी दसॉल्ट एविएशन से खरीदे गए 36 लड़ाकू विमानों की आपूर्ति होनी शुरू हो चुकी है।जिसमे 18 राफेल नेट अम्बाला में व 18 भूटान सीमा पर हासिमारा एयरबेस पर तैयार रहेंगे।

लद्दाख क्षेत्र के वास्तविक नियंत्रण रेखा के पार अक्साई चीन  में तैनात पीएल के रडार लगा रखे हैं जिससे कि हमारे राफेल की फ्रीक्वेंसी सिग्नेचर को पहचान सके।भारत व चीन के बीच राजनयिक और सैन्य स्तर पर बातचीत और सैनिकों के पीछे हटाये जाने की प्रकिया के बावजूद सेना के तीनों अंग पूरी तरह से एलएसी से लेकर समुद्र तक सचेत हैं।

हालांकि जुलाई में लद्दाख सेक्टर की चीनी एयरफोर्स की गतिविधियां कम हुई है। परंतु भारतीय वायुसेना बेहद सतर्कता से तिब्बत के ल्हासा गोंगर और शिनजियांग क्षेत्र में होतन एयरबेस पर कोई बड़ी घटना न घट जाय इसके लिए मुश्तैद है।
हिमाचल के पहाड़ों पर प्रैक्टिस में जुटे राफेल लद्दाख में चीन को माकूल जवाब देने के उद्देश्य से अपना अभ्यास शुरू किया है।

डॉ. जनार्दन यादव, दिल्ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

"हीर लालची होगी तो रांझा का प्रेम परवान चढ़ ही नहीं सकता"

रूपसंजना,एमजेएमसी,दिल्ली प्रेम पवित्र होता है व प्यार शाश्वत सत्य।प्रेम।की पराकाष्ठा सदियों से चली आ रही निर्मल भावनाओं का प्रत्यक्ष उदघोष […]