राजद भोजनालय के लालू रसोई से भर रहा था गरीबों का पेट, उखाड़ने पहुंचा प्रशासन तो तेजस्वी ने दिया करारा जवाब

Anchal Shukla

प्रशासन की इस घृणित कार्रवाई पर तेजस्वी यादव ने सरकार को उल्टे हाथों लिया। उन्होंने कहा कि हम वोटबैंक नहीं, जन हित का काम कर रहे हैं। अगर बीजेपी-जेडीयू को अपने नेताओं के होर्डिंग लगाने हैं, तो वो शौक से लगाए। लेकिन राजद भोजनालय को चलने दे।

पटना। बिहार और यूपी बॉर्डर पर गरीबों मजदूरों के लिए चल रहे राजद भोजनालय को उखाड़ने के लिए बिहार सरकार ने अपनी कोशिशें तेज कर दी हैं। जिसके बाद खुद तेजस्वी यादव आगे आए और उन्होंने बिहार सरकार को आड़े हाथों लिया। दरअसल राजद भोजनालय में चल रहे लालू रसोई से सरकार को वोटबैंक की याद आ गई और वो राजनीतिक दांव पेंच चलाने लगी। लेकिन तेजस्वी यादव के सामने आ जाने से सरकार सकते में है।

 

जानकारी के मुताबिक बिहार-यूपी की सीमा पर राष्ट्रीय जनता दल की ओर से श्रमिकों का पेट भरने के लिए राजद भोजनालय चलाया जा रही था। जिसमें चल रही लालू रसोई से लोगों को भोजन दिया जा रहा था। इस भोजनालय में राज्य सरकार की शिविरों की अपेक्षा अधिक लोग आ रहे हैं।

 

राजद भोजनालय में भोजन के साथ ही सेनेटाइजेशन की भी व्यवस्था है। देखिए वीडियो…

 

राजद भोजनालय में उमड़ रहे लोगों के प्रेम को देखते हुए सरकार सकते में आ गई और देर रात लालू रसोई को बंद कराने की कोशिश करने लगी। वीडियो देखें

 

प्रशासन की इस घृणित कार्रवाई पर तेजस्वी यादव ने सरकार को उल्टे हाथों लिया। उन्होंने कहा कि हम वोटबैंक नहीं, जन हित का काम कर रहे हैं। अगर बीजेपी-जेडीयू को अपने नेताओं के होर्डिंग लगाने हैं, तो वो शौक से लगाए। लेकिन राजद भोजनालय को चलने दे। अगर सरकार अब भी नहीं चेतती है, तो मुझे खुद सडकों पर उतरना पड़ेगा। तेजस्वी यादव ने इस बारे में वीडियो भी जारी किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

लोन होगा सस्ता, तीन महीने तक और जारी रहेगी ईएमआई न भरने की मोहलत

लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान आरबीआई ने बैंकों से 3 महीने के लिए लोन और ईएमआई पर छूट देने को कहा था और अब फिर से नए 3 महीनों के लिए मोहलत के ऐलान किया हैं
Informative