“अविवेकी प्रेमी निकला डॉक्टर विवेक,प्रेम में पागल होकर प्रेमिका को उतारा मौत की घाट”

Janardan Yadav

रूपसंजना,एमजेएमसी,दिल्ली

     दिल्ली की शिवपुरी फेस टू की रहने वाली डॉ योगिता गौतम और डॉ विवेक तिवारी की पहली मुलाक़ात मुरादाबाद स्थित महावीर तीर्थंकर मेडिकल कालेज मे वर्ष 2009 में हुआ था। जहां डॉ विवेक योगिता से एक वर्ष सीनियर एमबीबीएस की पढ़ाई के रहे थे,कानपुर का विवेक तिवारी मुलाक़ात वार्तालाप को केबी दोस्ती में बदल लिया पता  ही नहीं चल पाया। दोनों का करियर एक ही दिशा में व हसीन हो चली थी। दोनों दस साल तक प्रेम मे मोहपाश में बंधे रहे।

डॉ योगिता पीजी करने सरोजनी मेडिकल कॉलेज आगरा आ गई व डॉ विवेक तिवारी उरई में मेडिकल ऑफिसर पदस्थ हो गए जहां उनके पिताजी डिप्टी एसपी पद से रिटाइरमेंट हुए थे। इधर डॉ योगिता के पिताजी व भाई दोनों डॉक्टर हैं व दिल्ली में रहते हैं। डॉ विवेक तिवारी ने डॉ योगिता से विवाह रचाने का दबाव बनाने लगा थे जो कालांतर में डॉ योगिता को नागवार गुजरने लगा था। इसी बात से कूफीत होकर मंगलवार की शाम डॉ विवेक ने अंतिम बार मिलने को डॉ योगिता के घर नुरी दरवाजा आगरा शाम के साढ़े छह बजे पहुंचा व काल करके अपनी कार मे बैठकर चल दिया। कुछ ही दूरी जाने पर दोनों में झगड़ा होने लगा जिससे डॉ विवेक ने एक थप्पड़ मार दिया डॉ योगिता ने उसका बाल पकड़ लिया तो उसी समय अपने पिता की लाइसेंसी पिस्टल से योगिता के सर  मे गोली मर दी व उसी जगह चाकू से भी वार कर मौत की नींद सुला दिया । फ़तेहाबाद टोल प्लाज़ा से आगे बमरौली कटरा में एक सुनसान जघ पर डॉ योगिता की लाश को सड़क किनारे फेककर लकड़ी से जलाने का भी प्रयत्न किया लेकिन किसी के आने के कारण कार से उरई भाग गया। दिल्ली से पहुंचे भाई ने डॉ योगिता के शव को पहचान कर पुलिस को बताया की डॉ विवेक मेरी बहन को परेशान करता था तब आगरा पुलिस ने डॉ विवेक को उरई से गिरफ्तार करके ले आई,खून से साना चाकू व पिस्टल बरामद हो गई है व डॉ विवेक को उसके मोबाइल लोकेशन व मानसिक दबाव से अपना जुर्म स्वीकारने पर बाध्य होना पड़ा। दस साल की दोस्ती केवल 20 दिन के अनबन में दो ज़िंदगियों को तबाह किया। डॉ योगिता यूपी की पहली डॉक्टर थी जो कोविड 19 में सिजेरियन ऑपरेशन से बच्चा पैदा कारवाई थी। एक होनहार व उदयीमान डॉक्टर पागल प्रेमी के हाथों काल के क्रूर हाथों भेंट चढ़ गई ।        

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

“तीन पाक घुसपैठिए जम्मू-कश्मीर के रास्ते भारत सीमा में प्रवेश,दिल्ली है निशाने पर”

डॉ॰ जनार्दन यादव(पूर्व बीएसएफ)दिल्ली 21 अगस्त 2020 नई दिल्ली      पाकिस्तानी खुफ़िया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद […]