खास बात: बीजेपी को कुमार विश्वास से है कोई आस?

Prakash Chandra
Read Time:2 Minute, 45 Second

वेद प्रकाश। बुनियाद आरोपों प्रत्यारोपों, असली-नकली खबरों, वीडियो के जरिये दिल्ली में भी लोकतंत्र के पावन पर्व यानि चुनावी दंगल की शुरूआत हो चुकी है। सभी सियासी कुनबों खास कर वो जो दिल्ली के इस पावन पर्व के मुख्य यजमानों में से हैं, अपने अपने सोशल मीडिया के धुरंधरों को काम पर लगा दिया है।

सोशल मीडिया के महासागर में तैरती असली कम फर्जी ज्यादा खबरों से हम सभी को पल-पल की जानकारी मिल रही हैं। इसमें असली खबर एक ये भी है कि आम आदमी पार्टी ने सभी 70 सीटों पर अपने प्रत्याक्षी चुनावी दंगल में झोंक दिये है। कांग्रेस और बीजेपी ने अभी तक अपने प्रत्याक्षियों के नाम का खुलासा नहीं किया है उम्मीद है 18 जनवरी तक दोनों पार्टियां अपने प्रत्याशियों की सूची जारी कर देगी।

 

इन सबके बीच जो बड़ी खबर बनने का अंदेशा है वो ये है-क्या कुमार विश्वास बीजेपी में शामिल होंगे? प्रश्नचिन्हों के साथ उभरती खबरों पर तो कुमार विश्वास ही पूर्णविराम लगा सकते हैं। इस बाबत फिलहाल उनका जवाब ना या हाँ में ना होकर मजाकिये लहजे में ये था कि अभी मैं कतर में हूँ,यहीं से जाॅइन कर लूं क्या?

 

बताते चलें कि कुमार विश्वास फिलहाल प्रवासी भारतीयों के एक कार्यक्रम में शिरकत करने के लिये कतर गये हुये हैं।

 

दरअसल, भारतीय जनता पार्टी अरविन्द केजरीवाल के मुकाबले में सीएम चेहरे के रूप में ऐसा चेहरा लाना चाहती है, जिसकी जनता के बीच अच्छी छवि के साथ अच्छी पकड़ भी हो। ऐसे में कुमार विश्वास का बीजेपी के तरफ से सीएम चेहरा बनने की अटकल को बल मिलना लाजमी है। प्रयोग के तौर किरण बेदी को अपना सीएम चेहरा बना चुकी हैं।

 

कुमार विश्वास के बीजेपी में जाने की अटकलें पहले भी लगती रही हैं। लेकिन मीडिया जब भी सवाल पूछती है, वो हर बार सवाल को मुस्करा कर टाल जाते हैं। ऐसी ही एक पुरानी अटकल में उनके बीजेपी की तरफ से राज्यसभा जाने की अटकल भी लग चुकी हैं।

 

331 total views, 4 views today

3 1
Happy
Happy
100 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

डॉक्टर को दवा कंपनियां क्या-क्या देती हैं, ये पीएम को किसने बताया होगा?

संजय कुमार सिंह। देश के जाने- माने चिकित्सक और राजनेता प्रधानमंत्री के करीबी है। 1) डॉ. हर्षवर्धन 2) डॉ. महेश शर्मा 3) डॉ जितेन्द्र सिंह और 4) संबित पात्रा। इनमें संबित पात्रा इस बार चुनाव हार गए। बाकी तीनों मंत्री पिछली सरकार में स्वास्थ्य मंत्री नहीं थे। संबित तो मंत्री […]

You May Like